Showing posts with label food. Show all posts
Showing posts with label food. Show all posts

Saturday, 22 October 2016

पपीता खाने से होते है ये चोंका देने वाले फ़ायदे जिनसे आप अभी तक अनजान है!

healthpatrika.com     21:21:00    
पपीता खाना यूं तो हर किसी के लिए फायदेमंद हैं। ये तो आप जानते ही हैं डेंगू फीवर में पपीते के पत्ते के रस को पिलाया जाता है जिससे प्लेटलेट्स बढ़ती हैं। लेकिन इसके कुछ खास फायदे भी हैं। पपीता और उसकी पत्तियों को खाने से आप किन बीमारियों से बच सकते हैं। जिनसे शायद आप अभी तक अनजान है।
health-benefits-and-uses-of-papaya-food-health-tips-in-hindi

तो आइये जानते है पपीता खाने से और क्या-क्या फायदे होते है...

1. जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्याएं हो अगर वे रोजाना एक कटोरी पपीता खाएंगे तो उनका हाजमा ठीक रहेगा।

2. कच्चा पपीता खाने के भी कई फायदे हैं। ये प्रोटीन डायजेशन माना जाता है यानी जिन लोगों को चना, राजमा या दालें हजम नहीं होती उन्हें थोड़ा सा कच्चा पपीता सलाद के तौर पर खाना चा‍हिए। इससे उनमें प्रोटीन की कमी नहीं होगी। लेकिन आपको बता दे कि कच्चा पपीता छोटे बच्चों को नहीं देना चाहिए क्योंकि बच्चों का पाचन तंत्र कच्चे पपीते को डायजेस्ट नहीं कर पाएगा। इसलिए इसे छोटे बच्चो से दूर रखे।

3. पपीते में पाए जाने वाला बीटा कैरोटिन विटामिन-A में तब्दील होता है जो कि स्वस्थ आंखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। इससे आपकी आखें कमज़ोर नही होती है।

4. यदि किसी ने फ्राइड या हैवी खा लिया है तो उसे पपीता खाना चाहिए। पपीते को खाना खाने के बाद भी खाया जा सकता है।

5. अगर इम्यूनिटी बढ़ाना चाहते हैं तो भी पपीता खा सकते हैं। ऐसे लोग यदि रोजाना पपीता खाएंगे उनको कफ, कोल्ड और बुखार जल्दी-जल्दी होना कम हो जाता है।

6. डायबिटीज मरीज भी पपीता खा सकते हैं। यह उनके लिए भी फायदेमंद होता है।


आपको बता दे कि सावधनी रखने वाली बात यह है कि गर्भवती महिलाओं को बहुत ज्यादा पपीता नहीं खाना चाहिए।

Sunday, 28 August 2016

तो इसलिए दूध का रंग सफेद और बिस्किट में होते है छेद... आप भी जानिए!

healthpatrika.com     17:39:00    
ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने इस बात पर शोध किया है कि आखिर दूध सफेद क्‍यों होता है और बिस्किट के बीच कई छेद क्‍यों होते हैं। इस शोध के बाद वैज्ञानिकों कहते हैं कि दुनियाभर में दूध के मुकाबले शायद ही कोई ऐसा पेय पदार्थ हो जो ताकत देने के साथ ही सबसे अधिक बिकता है।
you-know-why-the-colour-of-milk-always-looks-white-and-biskit-have-pores-health-tips-in-hindi

छोटी उम्र से लेकर बड़े-बुजुर्गों में दूध पीने से ताकत और ताजगी का अहसास होता है। वैज्ञानिकों ने रिसर्च 'दूध के रंग' को लेकर की है और दावा किया है कि दूध में 87 फीसद पानी और 13 फीसद फैट, प्रोटीन, विटामिन, मिनरल आदि से मिलकर बना होता है। यही वजह है कि रिसर्च में फैट, प्रोटीन, विटामिन आदि की वजह से ही दूध का रंग सफेद बताया गया है।


वहीं इसके साथ-साथ, बाजार में उपलब्‍ध होने वाले ज्‍यादातर बिस्किट में कई छेद मौजूद होते हैं। रिसर्च में बताया गया है बिस्किट को अच्छी तरह से पकाने के लिए इसके बिच में छेद रखे जाते है। इन छेदों की वजह से बिस्किट आसानी से पक जाता है और उसके कच्‍चे रहने की तमाम संभावनाएं कम हो जाती हैं।

Thursday, 4 August 2016

काली मिर्च, तुलसी और अदरक से होते है ये हेरान कर देने वाले फ़ायदे!

healthpatrika.com     16:03:00    
इस मानसून के मोसम में इंफेक्शन, एलर्जी, कोल्ड होना आम बात है। इंफेक्शन से शरीर में काफी कमजोरी आ जाती है। कई बार तो ऐसी हालत हो जाती है कि खाना पचाना मुश्किल होता है और इम्‍यून सिस्टम भी कमजोर हो जाता है।
foods-that-could-help-boost-your-immunity-in-hindi

तो आइये जानते हैं कैसे आप मानूसन सीजन में इम्यून सिस्टम बढ़ा सकते हैं :-

आपको बता दे कि इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए सबसे पहले तो आपको हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाना चाहिए। दूसरा अपनी नींद पूरी करें। नींद के साथ किसी तरह की लापरवाई ना करें। कम से कम 7 से 8 घंटे जरुर सोएं। तनाव से दूर रहें। तनाव का इम्यून सिस्टम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

इम्यून बढ़ाने के लिए खाएं ये फूड :-

काली मिर्च :- पाउडर के तौर पर या क्रश करके किसी भी रूप में आप काली मिर्च का सेवन करें। इससे गैस्ट्रिक प्रॉब्लम्स नहीं होंगी। काली मिर्च से शरीर में पनपने वाले कई बैक्टीरिया खत्म किए जा सकते हैं। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल तत्व बुखार और अन्य इंफेक्शंस से बचाते हैं। इसलिए काली मिर्च का सेवन फायदेमंद हो सकता है।

अदरक और लहसून :- सुपर एंटी इंफ्लेमेट्री तत्वों से भरपूर अदरक और लहसून शरीर में होने वाले दर्द और मितली से बचाते हैं। अंगुठे के आकार की अदरक, एक नींबू, 2-4 टुकड़े लहसून के और एक गाजर, इन सबका जूस बनाकर पीने से इम्यून सिस्टम बहुत मजबूत होता है।

तुलसी :- बुखार, अस्थमा या फेफड़ों की किसी भी तरह की बीमारी से तुलसी खाकर बचा जा सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि तुलसी की कुछ पत्तियों को पानी में डालकर पीने से पानी भी साफ हो जाता है।


हल्दी और शहद :- सीजनल एलर्जी से बचने के लिए हल्दी और शहद रामबाण हैं। ये बुखार, वायरल इंफेक्शन या फिर सीजनल एलर्जी के बैक्टीरिया को खत्म करता है। साथ ही इम्‍यून सिस्टम भी मजबूत करता है।

Monday, 1 August 2016

सावधान! Bread खाना हो सकता है खतरनाक, जानिए क्यों?

healthpatrika.com     08:01:00    
Bread सेहत के लिए खतरनाक होती है। CSE की रिपोर्ट कहती है कि भूख मिटाने के लिये जो सैंडविच आप खाते हैं वो Cancer का कारण हो सकता है। बड़े बड़े ब्रांड के सैंपल CSE की जांच में फेल हो गए। इसमें पाया गया कि देशभर में बिकने वाले बड़े ब्रांड की Bread और साथ ही बेकरी प्रोडक्ट्स जैसे बन्स, इंटेंट बर्गर पिज्जा सभी में खतरनाक कैमिकल पोटैशियम ब्रोमैटेड और पोटैशियम आयोडेट पाया गया है जो Cancer पैदा कर सकता है।
bread-is-harmful-for-your-health-health-tips-in-hindi

CSE ने देशभर से जो Bread के सैंपल लिए उनमें से 38 पॉपुलर ब्रान्ड में से 84% के सैम्पल टेस्ट में खराब पाए गए हैं। टेस्ट में दोनों केमिकल्स 2B कार्सिनोजेन कैटेगरी में मिले जो बेहद खतरनाक है। Cancer के अलावा इस कैमिकल से होने वाला साइड इफेक्ट थायराइड का खतरा भी बढ़ा देता है।

सबसे चौंकाने वाली बात जो सामने आई है वो ये कि CSE की रिपोर्ट में जिन कैमिकल का जिक्र है वो कई देशों में ब्लैक लिस्टेड भी है। पोटैशियम ब्रोमेट को कई देशों ने बैन किया हुआ है जिनमें यूरोप के देशों के अलावा नाइजीरिया, कनाडा, पेरू, साउथ कोरिया और ब्राजील प्रमुख है।

ये देश इन कैमिकल्स के खतरे के प्रति सजग है लेकिन अपने देश में फूड सेफ्टी को लेकर कितनी गंभीरता दिखाई जा रही है इसकी पोल ये रिपोर्ट भी खोलती नजर आ रही है। दरअसल Bread बनाने हुए पोटैशियम ब्रोमेट का इस्तेमाल इसलिये भी किया जाता है क्योंकि ये दिखने में एकदम आटे की तरह होती है इसका कोई रंग नहीं होता और साथ इसकी गंध और स्वाद भी नहीं होती जिससे मिलावट आसानी से की जा सकती है लेकिन ये एक खतरनाक पदार्थ है जो हमे Cancer भी दे सकता है।


वैसे ये कोई पहला मामला नहीं है जब बड़े ब्रैंड में इस तरह की मिलावट सामने आई हो। रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाली चीजों में इस तरह की मिलावट अब आम होती जा रही है। हवा से लेकर पानी और खाने पीने की चीजों तक सब शरीर को बीमार करने वाली नजर आ रही है ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि ये फायदे के लिये सेहत से समझौता करने वाली ये मिलावट कैसे और कब रुकेगी।

Tuesday, 26 April 2016

रोज सुबह केला खाकर एक गर्म कप पानी पिने के फायदे जानोगे तो हेरान रह जाओगे आप... जानें!

healthpatrika.com     20:22:00    
Gharelu Nuskhe :अधिक लाभ पाने के लिए लोग नाश्‍ते में केला खाना पसंद करते हैं। रोज सुबह नाश्ते में केला खाने से एनर्जी मिलती है और इसके साथ ही सूकरोज, फ्रक्टोज और ग्लूकोज जैसे पोषक तत्व भी मिलते हैं। इस पीले फल में हल्‍का सा हरे रंग का स्‍पर्श होता हैं। जो स्‍टार्च और स्‍वस्‍थ कार्बोहाइड्रेट के सबसे अच्‍छे स्रोतों में से एक माना जाता है और सुबह नाश्‍ते में केला खाने से आपको दोपहर तक भूख महसूस नहीं होती है। इससे आप भरा-भरा महसूस करते है।

gharelu-nuskhe-benefits-of-a-banana-and-cup-of-warm-water-in-hindi

केले के साथ गर्म पानी लेना कितना फायदेमंद है :- विश्‍वभर में लोग आ‍हार में केले का बहुत अधिक मात्रा में इस्‍तेमाल करते हैं। और कुछ इस हद तक कि रिपोर्ट बताती है कि जापान में केले की कमी होने लगी हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि सुबह के समय केले खाने के बाद एक कप गर्म पानी पीना वजन घटाने में बहुत ही मददगार होता है।

सुबह के नाश्ते में केले और गर्म पानी को शामिल कर आप इसके बेहतरीन फायदे पा सकते हैं। केले के साथ बस एक कप गर्म पानी का प्रयोग करके ना केवल आप वजन को कम कर सकते है बल्कि आपको सही आकार देने में भी बेहद मददगार होता है। अब तक किए गए कई शोधो में मॉर्निंग में केले खाने के बेहतरीन फायदों को बताया गया।

यहं कैसे करता है काम :- स्टार्च और हेल्दी कार्बोहाइड्रेट से भरपूर यह डाइट दिनभर में आपके शरीर पर चढ़ने वाले मोटापे को कम करने में आपकी मदद करती है। सुबह के नाश्ते में केले के साथ गर्म पानी का सेवन देर तक आपका पेट भरा रखने में मदद करने के साथ एनर्जी के स्तर को भी बनाए रखता है।

केला न केवल आपके मेटबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है, बल्कि आपके पाचन तंत्र को बेहतर कर पाचन क्रिया को सुधारने में भी मदद करता है। दूसरा केला एक प्रकार के स्टार्च से भरपूर होता है, जिसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स की मात्रा बेहद कम होती है। साथ ही इसमें मौजूद फाइबर आपको कब्ज की समस्या से निजात दिलाने में फायदेमंद साबित होता है और आपको संतुष्टि देने के साथ ही कार्बोहाइड्रेट के अतिरिक्‍त अवशोषण को रोकने में मदद करता है।

केले के साथ गर्म पानी लेने से पाचन दुरुस्‍त होता है। गर्म पानी एक प्राकृतिक शक्तिवर्धक है। यह शरीर को हाइड्रेट कर ऑक्‍सीजन के स्‍तर को बढ़ाता है। केला खाने के बाद आपको तरोताजा और अलग सा महसूस होता है। केले के साथ गर्म पानी का गिलास पिने से आप अतिरिक्‍त कैलोरी और अतिरिक्‍त शुगर के बिना भरपूर एनर्जी और सेहत पा सकते हैं। तो आप कब शुरू कर रहे हैं, मॉर्निंग बनाना डाइट?

© 2011-2014 Health Patrika. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.